India flag

🕓

#HowToDetoxifyAir In News: The Most Popular Tweets | India

@RupeshK32328087 @acs_59 सही कहा हमें आस-पास नीम, पीपल, बरगद, तुलसी, आँवला जैसे पेड़ लगाने चाहिए। तभी वातावरण को शुद्ध बना पाएंगे। #HowToDetoxifyAir.

#HowToDetoxifyAir Twitter

#HowToDetoxifyAir Photo

#HowToDetoxifyAir Top Tweets On Twitter

आपको बता दें कि सभी वृक्ष दिन में कार्बन डाइऑक्साइड शोषते है और ऑक्सीजन छोड़ते है लेकिन पीपल एक ऐसा वृक्ष है कि दिन रात 24 घण्टे कार्बन डाइऑक्साइड लेता है और ऑक्सीज छोड़ता है #HowToDetoxifyAir.

देसी गाय के गोबर से बनी कंडे में घी डालकर धुंआ करें तो वातावरण में ऑक्सीजन की बढ़ोतरी होती है और हानिकारक बैक्टीरिया मर जाते हैं -Sant Shri Asaram Bapu Ji #HowToDetoxifyAir.

We should plant sacred Basil, which, besides having medicinal & spiritual properties, is capable of combating air pollution by releasing ozone. #HowToDetoxifyAir.

#HowToDetoxifyAir देशी गाय के कंडे पर देशी घी की 1 बूंद डालने से 1 टन ऑक्सीजन पैदा होती है।इसलिये सब को घर में हवन जरूर करना चाहिये ताकि वातावरण शुद्ध हो।वातावरण शुद्धिकरण का यह सरल व उत्तम साधन है।.

देश के कई शहरों का प्रदूषण खतरनाक स्तर तक पहुँच चुका है। इस खतरे को टालने हेतु स्वास्थ्यवर्धक पेड़ लगाने चाहिए व हानिकारक पेड़ हटाने चाहिए। इसके अलावा गौ-गोबर में घी डालकर धुआँ करें तो वातावरण मे ऑक्सीजन की बढ़ोत्तरी होगी। #HowToDetoxifyAir.

#HowToDetoxifyAir Photo

@Mewalaldewanga5 प्रदूषित वायु के शुद्धीकरण में तुलसी का योगदान सर्वाधिक है।तुलसी का पौधा उच्छ्वास में स्फूर्तिप्रद ओजोन वायु छोडता है,जिसमें ऑक्सीजन के दो के स्थान पर तीन परमाणु होते हैं।ओजोन वायु वातावरण के बैक्टीरिया,वायरस,फंगस को नष्ट करके ऑक्सीजन में रूपांतरित हो जाती है #HowToDetoxifyAir.

@CeFL6P06pYzlBx8 @ShriManoj9 Sant Shri Asaram Bapu Ji बताते हैं कि प्रदूषित वायु के शुद्धिकरण में तुलसी का योगदान सर्वाधिक है । तुलसी का पौधा स्फूर्तिप्रद ओजोन वायु छोड़ता है , जिसमें ऑक्सीजन के दो के स्थान पर तीन परमाणु होते हैं। #HowToDetoxifyAir.

@ShagunT58989761 शगुन जी इस देश की सरकारों ने पीपल, तुलसी , नीम, वटवृक्ष जैसे इन पेड़ों से दूरी बना ली तथा इसके बदले विदेशी यूकेलिप्टस को लगाना शुरू कर दिया जो जमीन को जल विहीन कर देता है साथ इन पेड़ों के न होने से हमारा पर्यावरण प्रदूषित होता जा रहा है । #HowToDetoxifyAir.

#HowToDetoxifyAir Photo

@ShagunT58989761 Sant Shri Asaram Bapu Ji बताते हैं कि तुलसी का पौधा उत्तम प्रदूषण नाशक है। तुलसी हमेशा ओजोन वायु छोड़ता है। ओजोन वायु वातावरण के बैक्टीरिया ,वायरस, फंगस आदि को नष्ट करके ऑक्सीजन में रूपांतरित हो जाती है। #HowToDetoxifyAir.

हमारे लिए सबसे श्रेष्ठ आहार है शुद्ध और शक्तिशाली वायु,देशी गाय के गोबर के कंडे में 1 चम्मच देशी घी डाल के उसका धूप शरीर के लिए सबसे शक्तिशाली भोजन है,इसका लाभ लें। #HowToDetoxifyAir.

@dabhisn @_Ajayks Suresh Ji, प्रदूषण युक्त शहरों में हमें अत्यधिक मात्रा में तुलसी के पौधे लगाने चाहिए जो 24 घंटे ऑक्सीजन देती है और तुलसी का पौधा कीटाणु नाशक भी होता है | #HowToDetoxifyAir.

@RupeshK32328087 @acs_59 सही कहा हमें आस-पास नीम, पीपल, बरगद, तुलसी, आँवला जैसे पेड़ लगाने चाहिए। तभी वातावरण को शुद्ध बना पाएंगे। #HowToDetoxifyAir.

Blocks of closely planted trees can significantly reduce noise pollution. Calculations show that a 30–40 feet high & 100 feet wide patch of forest can reduce noise by half as it passes through. #HowToDetoxifyAir.

@Vikrant59605176 Sant Shri Asaram Bapu Ji सत्संग में बताते हैं कि वातावरण- शुद्धि में सहायक हवन के लिए वट और पीपल की समिधा का वैज्ञानिक महत्व है। #HowToDetoxifyAir.

@_Ajayks दिल्ली,हरियाणा और पंजाब में प्रदूषण इतना बढ़ गया है कि श्वास लेना भी मुश्किल हो गया है, इनसे बचने के लिए पीपल का वृक्ष जरूर लगाएं,सभी पेड़ दिन में कार्बन डाई ऑक्साइड छोड़ते हैं,परंतु पीपल चौबीस घंटे ऑक्सीजन देते हैं। #HowToDetoxifyAir.

@Shyamjimishraj1 @PawanKu02280435 Mishra ji, नीलगिरी की शाखाओं पर ज्यादातर पक्षी घोंसला नहीं बनाते, इसके मूल में प्रायः कोई प्राणी बिल नहीं बनाते, यह इतना हानिकारक, जीवन-विघातक वृक्ष है।हमें पक्षीयों एवं प्राणियों से नीलगिरी के विषय मे सीख लेनी चाहिए । #HowToDetoxifyAir.

@RaniCho74906672 पेड़ पौधे पर्यावरण प्रदूषण रूपी विष का पान कर मानव जाति को दीर्घजीवी बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।वृक्षों के पत्ते वायु को छानते है और इस प्रकार टनों धूल अपने ऊपर रोककर उसे मनुष्यो की श्वास नलिकाओं में जाने या आँखों में पडऩे की सम्भावना कम कर देते हैं।  #HowToDetoxifyAir.

@Shiwam41005386 पीपल की जितनी महिमा गायें,कम है । पर्यावरण की शुद्धि के लिए जनता-जनार्दन एवं सरकार को विदेशी बबूल,नीलगिरी (यूकेलिप्टस) आदि जीवनशक्ति का ह्रास करनेवाले वृक्ष सड़कों एवं अन्य स्थानों से हटाने चाहिए और पीपल,आँवला,तुलसी,वटवृक्ष व नीम के वृक्ष दिल खोल के लगाने चाहिए #HowToDetoxifyAir.

@Jyotich88 सरकार अगर सचमुच में दिल्ली व अन्य प्रदेश को प्रदूषण मुक्त बनाना चाहती है तो अधिक से अधिक तुलसी, पीपल ,नीम, वटवृक्ष ,आंवला के वृक्ष तुरंत लगाएं और नीलगिरी और विदेशी बबूल हटाएं। #HowToDetoxifyAir.

@acs_59 पीपल की जितनी महिमा गायें,कम है । पर्यावरण की शुद्धि के लिए जनता-जनार्दन एवं सरकार को विदेशी बबूल,नीलगिरी (यूकेलिप्टस) आदि जीवनशक्ति का ह्रास करनेवाले वृक्ष सड़कों एवं अन्य स्थानों से हटाने चाहिए और पीपल,आँवला,तुलसी,वटवृक्ष व नीम के वृक्ष दिल खोल के लगाने चाहिए #HowToDetoxifyAir.

@Mewalaldewanga5 सब कुछ सरकारे नहीं कर सकती कुछ जिम्मेवारी हम आम इंसानों की भी है इसलिए अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए हमें ऐसे पेड़ लगाने चाहिए जिससे प्रदूषण कम हो #HowToDetoxifyAir.

सरकार को बबूल, नीलगिरी आदि जीवनशक्ति का ह्रास करनेवाले वृक्ष तुरंत हटाकर पीपल, आँवला, तुलसी, बरगद व नीम के वृक्ष लगाने चाहिए । इससे अरबों रुपए की दवाई का खर्च बच जायेगा‌ । ये वृक्ष शुद्ध वायु के द्वारा प्राणिमात्र को एक प्रकार का उत्तम भोजन प्रदान करते है । #HowToDetoxifyAir.

@Sharadt06187894 @RRAMAN3 जी हाँ शरद जी , पर्यावरण की शुद्धि के लिए पीपल, आँवला, तुलसी, वटवृक्ष व नीम के वृक्ष बहुत ज्यादा लगाने चाहिए । #HowToDetoxifyAir.

@Priya57272286 @PamnaniSandip सही है ,विदेशी बबुल और नीलगिरी के पेड़ कटवा दिए जाएं। #HowToDetoxifyAir.

@Mewalaldewanga5 Sant Shri Asaram Bapu Ji बताते हैं कि प्रदूषणयुक्त ऋण-आयनों की कमी वाली एवं ओजोन रहित हवा से रोग प्रतिकारक शक्ति का ह्रास होता है व कई प्रकार की शारीरिक-मानसिक बीमारियां होती है । पीपल का वृक्ष रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ाने वाला है। #HowToDetoxifyAir.